विवरण

वर्षा की संभावना

लेखक : Dr. Pramod Murari

13 अक्टूबर 2020 : तेलंगाना, दक्षिण कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाडा, तटवर्ती एवं आंतरिक कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में भारी से मूसलाधार वर्षा हो सकती है। विदर्भ, दक्षिण छत्तीसगढ़, दक्षिण ओडिशा, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह, उत्तरी आंध्र प्रदेश, रायलसीमा, केरल, माहे एवं दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा होने के आसार हैं। पश्चिम-पूर्व बंगाल की खाड़ी, आंध्र प्रदेश के ऊपर 55 - 65 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से तेज हवा चल सकती है। दक्षिण ओडिशा, तमिलनाडु, पुडुचेरी, दक्षिण-पश्चिम एवं उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, मन्नार की खाड़ी के कुछ क्षेत्रों में 45 - 55 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से तेज हवा चलने की संभावना है। अंडमान सागर, पूर्व-मध्य अरब सागर, केरल, कर्नाटक, दक्षिण महाराष्ट्र के तटवर्ती क्षेत्रों में 40 - 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से तेज हवा चलने की संभावना है। मछुआरों को इन क्षेत्रों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

14 अक्टूबर 2020 : मध्य महाराष्ट्र, कोंकण, गोवा, मराठवाडा एवं उत्तर आंतरिक कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में भारी से मूसलाधार वर्षा होने की संभावना है। विदर्भ, तेलंगाना, केरल, माहे एवं दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा होने की संभावना है। मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाडा, कोंकण, गोवा, आंध्र प्रदेश का तटवर्ती क्षेत्र, यानम, तेलंगाना, रायलसीमा, कर्नाटक, केरल एवं माहे के कुछ क्षेत्रों में बिजली के साथ हल्की गरज सुनाई देने की संभावना जताई गई है। अंडमान सागर, पूर्व-मध्य अरब सागर, महाराष्ट्र के तटवर्ती क्षेत्रों में 40 - 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से तेज हवा चलने की संभावना है। मछुआरों को इन क्षेत्रों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।


15 अक्टूबर 2020 : मध्य महाराष्ट्र, कोंकण एवं गोवा के कुछ क्षेत्रों में भारी से मूसलाधार वर्षा होने के अनुमान लगाए गए हैं। गुजरात, मराठवाडा, केरल, माहे एवं कर्नाटक के आंतरिक क्षेत्रों में भारी वर्षा हो सकती है। मध्य प्रदेश, विदर्भ, गुजरात, केरल एवं माहे के कुछ क्षेत्रों में बिजली के साथ हल्की गरज सुनाई देने की संभावना है। अंडमान सागर, उत्तर-पूर्वी एवं पूर्व-मध्य अरब सागर, गुजरात एवं महाराष्ट्र के तटवर्ती क्षेत्रों में 40 - 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से तेज हवा चलने की संभावना है। मछुआरों को इन क्षेत्रों से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

23 लाइक्स

10 टिप्पणियाँ

13 October 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें