विवरण

वर्मी कम्पोस्ट के लाभ

लेखक : Soumya Priyam

वर्मी कम्पोस्ट को आम भाषा में केंचुआ खाद भी कहते हैं। यह पोषक पदार्थों से भरपूर एक उत्तम जैव उरवर्क है। पोषक तत्वों के अलावा इसमें कुछ हार्मोंस, एंजाइम्स भी पाए जाते हैं जो पौधों के लिए बहुत लाभदायक होता है। केंचुआ खाद दिखने में हल्का काला और दानेदार होता है। वर्मी कम्पोस्ट में स्थानीय केंचुओं का इस्तेमाल करना अच्छा होता है। केंचुआ खाद की 2 टन मात्रा प्रति हेक्टेयर जमीन के लिए आवश्यक है। अब बात करते हैं इससे होने वाले लाभ के बारे में।

  • साधारण कम्पोस्ट की तुलना में केंचुआ खाद में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है।

  • इसके उपयोग से खेतों की उर्वरता में वृद्धि होती है।

  • इसके प्रयोग से फसलों की उपज में लगभग 15 से 20 प्रतिशत तक की वृद्धि होती है।

  • इसके प्रयोग से मिट्टी की भौतिक संरचना में परिवर्तन होता है और उसकी जल धारण क्षमता भी बढ़ती है।

  • इसका उपयोग किचेन गार्डन में भी किया जा सकता है।

  • वर्मी कम्पोस्ट डालने से फूलों और फलों के आकार में भी वृद्धि होती है।

21 लाइक्स

8 टिप्पणियाँ

2 September 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें