विवरण

लोबिया के चारे से बढ़ाएं पशुओं में दूध उत्पादन की क्षमता

लेखक : Soumya Priyam

ठंड के मौसम में अक्सर पशुओं में दूध उत्पादन की क्षमता में कमी आती है। इसके कई कारण होते हैं। जिनमें पशुओं को संतुलित आहार नहीं मिलना, पशुओं के शरीर में कैल्शियम, विटामिन डी, आदि पोषक तत्वों की कमी होना, थनैल रोग एवं प्लेग रोग होना, पशुओं के शरीर पर जूं एवं चिचड़ी होना, आदि शामिल है। इन सब कारणों के अलावा हरे चारे की कमी होने पर भी पशुओं के दूध उत्पादन में कमी आती है। इस समस्या से बचने के लिए पशुओं के आहार में लोबिया का चारा शामिल करें। आइए लोबिया के चारे से होने वाले फायदों पर विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।

पशु आहार में लोबिया का चारा शामिल करने के लाभ

  • लोबिया के चारे का सेवन करने वाले पशुओं प्रति दिन लगभग 6 से 7 लीटर अधिक दूध का उत्पादन करते हैं।

  • इसमें अधिक मात्रा में प्रोटीन पाई जाती है।

  • प्रोटीन के साथ ही इसके सेवन से पशुओं के शरीर में कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, आदि पोषक तत्वों की पूर्ति होती है।

  • स्वादिष्ट होने के कारण पशु इसे चाव से खाते हैं।

  • इसकी खेती में लागत कम आती है। इसलिए किसानों एवं पशु पालकों को अधिक मुनाफा होता है।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों एवं पशुपालकों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक व्यक्तियों तक यह जानकारी पहुंच सके। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

16 लाइक्स

5 टिप्पणियाँ

3 November 2021

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें