विवरण

ब्लास्ट रोग प्रतिरोधी धान

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

क्या आपको पता है कि कृषि एवं बागवानी विज्ञान विश्वविद्यालय (UAHS) ने धान की एक नई किस्म विकसित की है जो ब्लास्ट रोग के लिए प्रतिरोधी है?

जी हां,सह्याद्रि मेघा किस्म को मुख्य रूप से कर्नाटक के कई क्षेत्रों में धान की खेती में आई गिरावट को रोकने के लिए विकसित किया गया है। यह धान की एक नई लाल किस्म है जो ब्लास्ट रोग के लिए प्रतिरोधी और पोषक तत्वों से भरपूर है। इसे धान की दो किस्में 'अक्कलु' और 'ज्योति' को क्रॉस-ब्रीडिंग कराके संकरण प्रजनन विधि के तहत विकसित किया गया है। अक्कलु धन की रोग प्रतिरोधी और प्रोटीन युक्त एक देशी किस्म है। लाल चावल इन दिनों स्वास्थ्य के प्रति जागरूक उपभोक्ताओं के बीच लोकप्रिय है। औषधीय और पोषण मूल्य के कारण वर्तमान में भारतीय बाजार में लाल चावल की मांग बढ़ रही है।

ऐसे ही रोचक जानकारियां प्राप्त करनेके लिए जुड़े रहें देहात से।

47 लाइक्स

29 टिप्पणियाँ

25 September 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें