विवरण

हीरक कीड़े

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

गोभी की फसल में लगने वाले हीरक कीड़े हरे रंग के होते हैं जो उजले रुई जैसे पदार्थ के साथ गोभी की पत्तियों से चिपके रहते है। ये पत्तियों को खाकर छेद-छेद कर देते हैं और यदि समय पर इन  कीटों को नहीं रोका गया तो पूरी फसल ही बर्बाद हो जाती है। हीरक कीट को गीड़ार या लरहा कीट भी कहते है। हीरक कीट की रोकथाम के लिए 25 ग्रा. मोर्टार और 5 मिली. कटर या 20 ग्रा. लार्विन को प्रति टंकी पानी में घोलकर छिड़काव करें,अधिक प्रकोप होने पर दोबारा छिड़काव करायें।

गोभी की फसल में लगने वाले रोग एवं कीटनाशक के बारे में अधिक जानकारी के लिए देहात टोल-फ्री नंबर 18001036110 पर अभी कॉल करें।

23 लाइक्स

9 टिप्पणियाँ

12 November 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें