विवरण

देहात सम्पूर्ण सेवा (गेहूं के लिए)

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

कृषि करते समय किसानों के सामने फसलों की बुवाई से ले कर कटाई तक कई मुश्किलें आती हैं। कभी उन्हें सही समय पर रोग रहित प्रमाणित बीज नहीं मिलता, कभी सही समय पर उर्वरक एवं कीटनाशक नहीं मिलता है। यदि बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक मिल भी गया तो प्रयोग की विधि, सही मात्रा की जानकारी के अभाव में किसानों को उचित मुनाफा नहीं मिल पाता है। ऐसे में इस रबी के मौसम गेहूं की खेती करने वाले किसानों के लिए देहात ले कर आया देहात सम्पूर्ण सेवा। इसके अंतर्गत किसानों को बीज से बाजार तक की सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

देहात सम्पूर्ण से मिलने वाली सुविधाएं

  • रोग रहित, प्रमाणित एवं उच्च गुणवत्ता की बीज मुहैया कराई जाएगी।

  • सही समय पर खाद एवं उर्वरक प्रदान की जाएगी।

  • यदि गेहूं की फसल में किसी तरह के रोग एवं कीट के प्रकोप के लक्षण नजर आते हैं तो उचित मात्रा में कीटनाशक दी जाएगी।

  • इसके अलावा आप देहात के कृषि विषेधज्ञों से बुवाई, खाद एवं कीटनाशकों के प्रयोग की विधि, सिंचाई, खरपतवार नियंत्रण, रोग एवं कीट प्रबंधन, कटाई, आदि सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

  • कटाई के बाद आप फसलों को सीधा देहात को बेच सकते हैं।

  • इन सब के अलावा किसानों को फसल बीमा भी प्रदान की जाती है। इसके तहत आप बीज के अंकुरित नहीं होने के कारण होने वाले नुकसान से बच सकते हैं। फसल बीमा केवल देहात के द्वारा खरीदी गई गेहूं की बीज पर दी जाएगी।

देहात गेहूं की किस्में (जिन पर बीमा की सुविधा है)

  • DWS-777 : उपचारित बीज, इस किस्म की बालियां पूर्ण रूप से भरी हुई एवं सफेद होती हैं।

  • ट्रिटिकम 30 : यह किस्म पोषक तत्वों से भरपूर है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। साथ ही यह शारीरिक एवं मानसिक विकास में भी सहायक है।

  • कुंदन : यह अधिक पैदावार देने वाली किस्मों में से एक है। इसके दाने कठोर एवं आकार में बड़े होते हैं।

  • 550 : देखने में आकर्षक इसके दाने शरबती और सुडौल होते हैं। यह किस्म काली गेरुई रोग के लिए प्रतिरोधी है।

  • 154 : यह किस्म गेरुई रोग के प्रति आंशिक रूप से प्रतिरोधक किस्मों में शामिल है।

  • 343 : यह किस्म भूरी, पीली एवं काली गेरुई रोग के लिए प्रतिरोधक है।

  • 262 : इस किस्म के दाने शरबती, कठोर एवं चमकीले होते हैं। बालियों का रंग सफेद होता है।

  • 502 : इस किस्म के दाने शरबती, कठोर एवं चमकीले होते हैं। बालियों का रंग सफेद होता है।

  • 2967 : यह किस्म गेरुई रोग के प्रति आंशिक रूप से प्रतिरोधक किस्मों में शामिल है।

देहात सम्पूर्ण से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठाएं और अधिक मुनाफा कमाएं। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक किसान देहात से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ उठा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें। अधिक जानकारी के लिए आप देहात के टोल फ्री नंबर 1800-1036-110 पर संपर्क भी कर सकते हैं।

48 लाइक्स

41 टिप्पणियाँ

30 October 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें