विवरण

ड्रिप विधि से सिंचाई की सम्पूर्ण जानकारी

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

घटते जल स्तर के कारण भारत में कई क्षेत्रों में फसलों की सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी की कमी होती जा रही है। असिंचित क्षेत्रों यानी पानी की कमी वाले क्षेत्रों में फसल की सिंचाई के लिए ड्रिप सिंचाई का प्रयोग करना एक बेहतर विकल्प है। सिंचाई की इस अनोखी विधि को टपक सिंचाई के नाम से भी जाना जाता है। इस प्रक्रिया में पौधों की जड़ों के पास बूंद-बूंद कर के पानी टपकाया जाता है। जिससे पानी की बचत के साथ पौधों को पर्याप्त मात्रा में पानी पहुंचाया जाता है। इसके साथ ही आस-पास की भूमि सूखी होने के कारण खेत में खरपतवारों की समस्या भी कम होती है। इसके कई अन्य फायदे भी हैं। ड्रिप विधि से सिंचाई की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए इस वीडियो को ध्यान से देखें। यदि आपको इस वीडियो में दी गई जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक किसानों तक यह जानकारी पहुंच सके। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें। पशु पालन एवं कृषि संबंधी अन्य रोचक एवं ज्ञानवर्धक जानकारियों के लिए जुड़े रहें देहात से।

5 लाइक्स

7 February 2022

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें