विवरण

चन्दन में है कई औषधीय गुण, जानें इसकी बेहतरीन किस्में

लेखक : Lohit Baisla

चंदन में मौजूद औषधीय गुणों के कारण हमेशा इसकी मांग बनी रहती है। इसके अलावा भारत में लगभग प्रति वर्ष 100 टन चंदन की उपज होती है। जिसके मुकाबले 6 से 8 हजार टन की खपत इसे महंगी लकड़ियों में शामिल करती है। चंदन की खेती के समय यह बात ध्यान रखने वाली होती है कि चंदन का पेड़ कभी भी अकेला नहीं पनप पाता है। अगर चंदन का पेड़ अकेला लगाया जाएगा तो यह सूख जाएगा। इसलिए चंदन के साथ कुछ खास पौधे जैसे नीम, मीठी नीम, सहजन, लाल चंदन लगाने चाहिए, जिससे उसका विकास हो सके। चंदन से अधिक मुनाफा कमाने के लिए चंदन की कुछ खास किस्मों की जानकारी यहां देखें।

चंदन की कुछ उन्नत किस्में

  • भारतीय चंदन : यह दक्षिण भारत के क्षेत्रों में उगाया जाने वाला चंदन है, जो केवल 13 से 20 फीट तक ही बढ़ सकता है। इस चंदन का प्रयोग मुख्यतः तेल बनाने में किया जाता है। 100 साल तक जीवित रहने वाला यह पेड़ अधिक कटाई के कारण विलुप्त होने की कगार पर है।

  • लाल चंदन : लाल चंदन को रक्त चंदन के रूप में भी जाना जाता है। यह चंदन अपने अनोखे लाल रंग के कारण काफी प्रसिद्ध है। लाल चंदन के पेड़ की लकड़ी सुगंधित नहीं होती है और पेड़ केवल 20 से 25 फीट तक लंबा हो सकता है। यह चंदन अपने पारंपरिक औषधीय उपयोगों के लिए भी प्रसिद्ध है। पेचिश, रक्तस्राव और ज्वर, आदि रोगों में लाभ होता है।

  • सफेद चंदन- सफेद चंदन का प्रयोग व्यापार के लिए अधिक किया जाता है। यह सबसे अधिक खुशबू देने वाला चंदन है। इसका प्रयोग औषधी, साबुन, इत्र और चंदन तेल जैसी महंगी चीजों को बनाने के लिए किया जाता है। यह सबसे महंगे बिकने वाले चंदन की किस्मों से एक है, जिसकी लंबाई 50 फीट से अधिक हो सकती है।

  • मलयागिरी चंदन- यह एक सदाबहार चंदन की किस्म है, जिसे श्रीखंड के नाम से भी जाना जाता है। इसकी ऊंचाई 20 से 30 फीट तक हो सकती है। इसकी खेती दक्षिण भारत और पश्चिमी घाटों पर की जाती है। मलयागिरी चंदन या श्रीखंड सभी में सबसे अच्छी और उन्नत किस्म है। पेड़ में एक मनमोहक सुगंध के साथ हल्का पीलापन लिए सफेद रंग की लकड़ी होती है। इन पेड़ों की लकड़ी का उपयोग सुंदर बक्से बनाने में किया जाता है।

यह भी देखेंः

आशा है कि यह जानकारी आपके लिए लाभकारी साबित होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें और अपने किसान मित्रों के साथ जानकारी साझा करें। जिससे अधिक से अधिक लोग इस जानकारी का लाभ उठा सकें और चंदन की खेती से अधिक मुनाफा प्राप्त कर सकें। इससे संबंधित यदि आपके कोई सवाल हैं तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। कृषि संबंधी अन्य रोचक एवं महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए जुड़े रहें देहात से।

2 लाइक्स

8 April 2022

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें