विवरण

भिंडी की अगेती किस्में

लेखक : Dr. Pramod Murari

जनवरी महीने में भिंडी की अगेती खेती करके किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। भिंडी की अगेती खेती करने से पहले इसकी कुछ उन्नत किस्म की जानकारी होना आवश्यक है। इस पोस्ट के माध्यम से आप हिंदी की कुछ उन्नत अगेती किस्मों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • वर्षा उपहार : इस किस्म की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह किस्म पीलिया रोग के लिए प्रतिरोधी है। इस किस्म के पौधों की लंबाई मध्यम होती है और दो गांठों के बीच की दूरी भी कम होती है। पौधों को लगाने के लिए करीब 45 दिनों बाद फल निकलने शुरू हो जाते हैं। प्रति एकड़ भूमि से 40 क्विंटल तक भिंडी की पैदावार होती है।

  • अर्का अनामिका : यह किस्म पीली मोजेक विषाणु रोग के लिए प्रतिरोधी है। यह एक संकर किस्में है। इसके फल सुगंधित एवं स्वादिष्ट होते हैं। इस किस्म की भिंडी की भंडारण क्षमता भी अच्छी होती है। प्रति एकड़ भूमि से 8 टन तक फसल की उपज होती है।

  • अर्का अभय : यह संकर किस्मों में से एक है। यह किस्म भी अर्का अनामिका की तरह पीली मोजेक विषाणु रोग के प्रति प्रतिरोधी है। इसके पौधे लंबे एवं फैले हुए होते हैं। इस किस्म के फलों की भंडारण क्षमता भी अच्छी होती है। प्रति एकड़ जमीन में खेती की जाए तो करीब 7.2 टन भिंडी प्राप्त हो सकती है।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है इस पोस्ट में दी गई जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो हमारे पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसान मित्रों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसान मित्र भी इन किस्मों की खेती करके भिंडी की अच्छी फसल प्राप्त कर सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

55 लाइक्स

8 टिप्पणियाँ

22 January 2021

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें