विवरण

भिंडी की अच्छी पैदावार के लिए आवश्यक कार्य

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

हरी सब्जियों में भिंडी की मांग अधिक होती है। इसकी खेती रबी मौसम के साथ खरीफ मौसम में भी की जाती है।  अगर आप भिंडी की खेती कर रहे हैं तो यहां से आप अच्छी पैदावार के लिए आवश्यक कार्यों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • खेत तैयार करते समय 2 से 3 बार जुताई करें और मिट्टी को भुरभुरी एवं समतल बनाने के लिए पाटा लगाएं।

  • प्रति एकड़ खेत में 6 से 8 टन गोबर की खाद मिलाएं।

  • प्रति एकड़ खेत में 32 किलोग्राम नाइट्रोजन, 24 किलोग्राम फास्फोरस एवं 24 किलोग्राम पोटाश की आवश्यकता होती है।

  • खेत तैयार करते समय नाइट्रोजन की आधी मात्रा के साथ फास्फोरस और पोटाश की पूरी मात्रा मिलाएं।

  • नाइट्रोजन की आधी मात्रा को दो भागों में बांट कर खड़ी फसल में छिड़काव करें।

  • समय पर सिंचाई करना आवश्यक है। मिट्टी में नमी की कमी न होने दें।

  • खेत में जल जमाव न होने दें। अच्छी फसल प्राप्त करने के लिए जल निकासी की अच्छी व्यवस्था करें। भिंडी की

  • अत्यधिक मात्रा में रसायनों का छिड़काव न करें।

  • फसल में मुख्य पोषक तत्वों एवं सूक्ष्म पोषक तत्वों की पूर्ति करें।

  • फल एवं फूलों की संख्या में वृद्धि के लिए 15 लीटर पानी में 2 मिलीलीटर देहात फ्रूट प्लस का छिड़काव करें।

  • फल छेदक कीट पर नियंत्रण के लिए 150 लीटर पानी में 50 मिलीलीटर देहात कटर मिला कर छिड़काव करें।

यह भी पढ़ें :

भिंडी की अगेती किस्मों की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

हमें उम्मीद इस पोस्ट में बताए गए तरीकों को अपनाकर आप भिंडी की अच्छी पैदावार प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपको यह जानकारी महत्वपूर्ण लगी है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसान मित्रों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसान मित्र भी इस जानकारी का लाभ उठा कर भिंडी की अच्छी फसल प्राप्त कर सकें। भिंडी की खेती से जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

41 लाइक्स

5 टिप्पणियाँ

29 January 2021

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें