विवरण

बैंगन की फसल में पत्ती छिद्रक कीट

लेखक : Soumya Priyam

भारत में सब्जियों में बैंगन की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। बैंगन की फसल में कई तरह के कीट आक्रमण करते हैं। जिनमें से एक है पत्ती छिद्रक कीट। बैंगन की खेती करने वाले किसानों के लिए यह एक बड़ी समस्या है। समय रहते इससे निजात पाना आवश्यक है। पत्ती छिद्रक कीट की जानकारी एवं इससे छुटकारा पाने के उपाय यहां से देखें।

लक्षण

  • इस तरह के व्यस्क कीट पत्तियों पर अंडे देते हैं।

  • व्यस्क कीट एवं अंडों से निकलने वाले लार्वा पौधों की कोमल पत्तियों को खाते हैं।

  • पत्तियों में छोटे-छोटे छेद नजर आने लगते हैं।

  • कुछ दिनों में पत्तियां जालीदार हो जाती हैं।

  • इससे पौधों के विकास में बाधा आती है।

  • इस कीट के प्रकोप से पैदावार में भारी कमी होती है।

बचाव के उपाय

  • यदि संभव हो तो कीट एवं अंडों को नष्ट कर दें।

  • संक्रमित पौधों को खेत से बाहर जला कर नष्ट कर दें।

  • खेत में खरपतवार न होने दें।

  • इस कीट से निजात पाने के लिए 15 लीटर पानी में 5 से 10 मिलीलीटर देहात कटर मिला कर छिड़काव करें।

  • इसके अलावा आप 15 लीटर पानी में 7-8 मिलीलीटर कोराजेन 18.5 प्रतिशत एस.सी मिला कर छिड़काव कर सकते हैं।

यदि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी आवश्यक लगी है तो हमारे पोस्ट को लाइक करें एवं अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

50 लाइक्स

61 टिप्पणियाँ

11 September 2020

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें