विवरण

बैंगन की सदाबहार किस्म से मिलेगी अधिक पैदावार

लेखक : Surendra Kumar Chaudhari

अब बिहार राज्य के किसान वर्ष बैंगन की खेती सफलतापूर्वक कर सकते हैं। बिहार कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा बैंगन की एक नई किस्म को विकसित की गई है। यह बैंगन की सदाबहार किस्म है। इस किस्म की खेती गर्मी एवं ठंड दोनों मौसम में की जा सकती है। आइए इस किस्म की विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।

बैंगन की सदाबहार किस्म की विशेषताएं

  • इस किस्म के पौधे 42 डिग्री सेंटीग्रेड तक तापमान सहन कर सकते हैं।

  • इस किस्म के बैंगन के फलों पर हरे रंग की धारियां होती हैं।

  • फलों में बहुत कम बीज होते हैं।

  • प्रत्येक फल का वजन करीब 85 से 88 ग्राम होता है।

  • प्रत्येक पौधे में करीब 23 से 26 फल आते हैं।

  • ठंड के मौसम में प्रति एकड़ भूमि में खेती करने पर 176 से 192 क्विंटल तक पैदावार होती है।

  • यह किस्म फल एवं तना छेदक कीट के प्रति सहनशील है।

  • इस किस्म के फल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं और फलों में शक्कर की मात्रा बहुत कम होती है।

  • सदाबहार किस्म के बैंगन खाने में स्वादिष्ट होते हैं।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है यह जानकर आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अनु किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक किसान मित्र इस जानकारी का लाभ उठाते हुए बैंगन की इस किस्म की खेती कर के अच्छा मुनाफा कमा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

14 लाइक्स

2 टिप्पणियाँ

28 October 2021

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

फसल संबंधित कोई भी सवाल पूछें

अधिक जानकारी के लिए हमारे कस्टमर केयर को कॉल करें
कृषि सलाह प्राप्त करें